Exam Preparation Group

GK, HISTORY, SCIENCE MATHS, ENGLISH, HINDI & MANY MORE

शैक्षणिक मनोविज्ञान अत्यंत महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर

शिक्षा मनोविज्ञान नोट्स संग्रह

मनोविज्ञान के सिद्धांत व प्रतिपादक / जनक
१•मनोविज्ञान के जनक = अरस्तू
२•आधुनिक मनोविज्ञान के जनक = विलियम जेम्स
३• प्रकार्यवाद सम्प्रदाय के जनक = विलियम जेम्स
 ४• आत्म सम्प्रत्यय की अवधारणा = विलियम जेम्स
५• शिक्षा-मनोविज्ञान के जनक = एडवर्ड थार्नडाइक
६• प्रयास एवं त्रुटि सिद्धांत = थार्नडाइक
७• प्रयत्न एवं भूल का सिद्धांत = थार्नडाइक
८•संयोजनवाद का सिद्धांत = थार्नडाइक
९• उद्दीपन-अनुक्रिया का सिद्धांत = थार्नडाइक
१०•S-R थ्योरी के जन्मदाता = थार्नडाइक
११• अधिगम का बन्ध सिद्धांत = थार्नडाइक
१२•संबंधवाद का सिद्धांत = थार्नडाइक
१३•प्रशिक्षण अंतरण का सर्वसम अवयव 

        का सिद्धांत = थार्नडाइक
१४• बहुखंड या बहुतत्व बुद्धि का सिद्धांत = थार्नडाइक
१५•बिने-साइमन बुद्धि परीक्षण के प्रतिपादक =अल्फ्रेडबिने एवं साइमन
१६•बुद्धि परीक्षणों के जन्मदाता =अल्फ्रेडबिने
१७•एकखंड बुद्धि का सिद्धांत =अल्फ्रेडबिने
१८• दो खंड बुद्धि का सिद्धांत = स्पीयरमैन
१९• तीन खंड बुद्धि का सिद्धांत = स्पीयरमैन
२० सामान्य व विशिष्ट तत्वों के सिद्धांत के प्रतिपादक = स्पीयरमैन
२१•बुद्धि का द्वय शक्ति का सिद्धांत = स्पीयरमैन
२२•त्रि-आयाम बुद्धि का सिद्धांत  = गिलफोर्ड
२३•बुद्धि संरचना का सिद्धांत = गिलफोर्ड
२४• समूह खंडबुद्धि का सिद्धांत = थर्स्टन
२५•युग्म तुलनात्मक निर्णय विधि के प्रतिपादक = थर्स्टन
२६• क्रमबद्ध अंतराल विधि के प्रतिपादक = थर्स्टन
२७• समदृष्टि अन्तर विधि के प्रतिपादक = थर्स्टन व चेव
२८• न्यादर्श या प्रतिदर्श(वर्ग घटक) बुद्धि का सिद्धांत = थॉमसन
२९• पदानुक्रमिक(क्रमिक महत्व) बुद्धि का 

सिद्धांत = बर्ट एवं वर्नन
३०•तरल-ठोस बुद्धि का सिद्धांत = आर. बी.केटल
 ३१•प्रतिकारक (विशेषक) सिद्धांत के 

                           प्रतिपादक = आर. बी.केटल
३३• बुद्धि ‘क’ और बुद्धि ‘ख’ का सिद्धांत = हैब
३४• बुद्धि इकाई का सिद्धांत = स्टर्न एवं जॉनसन
३५• बुद्धि लब्धि ज्ञात करने के सुत्र के प्रतिपादक = विलियम स्टर्न
३६•संरचनावाद साम्प्रदाय के जनक = WilhelmMaximilianWundt व् शिष्यटिंचनर(Edward B. Titchener)
३७•प्रयोगात्मक मनोविज्ञान के जनक = विल्हेम

 वुण्ट-1879 में लिपजिग जर्मनी में पहली प्रयोगशाला
३८•विकासात्मक मनोविज्ञान के प्रतिपादक = जीन पियाजे
३९• संज्ञानात्मक विकास का सिद्धांत = जीन पियाजे
४०• मूल प्रवृत्तियों के सिद्धांत के जन्मदाता = विलियम मैक्डूगल
४१• हार्मिक का सिद्धांन्त = विलियम मैक्डूगल
४२•मनोविज्ञान – मन मस्तिष्क का विज्ञान = पोंपोनोजी
४३•क्रिया-प्रसूत अनुबंधन का सिद्धांन्त =B F स्किनर
४४• सक्रिय अनुबंधन का सिद्धांन्त = B F स्किनर
४५• अनुकूलित अनुक्रिया का सिद्धांत = इवान पेट्रोविच पावलव (I P Pavlov)
४६• संबंध प्रत्यावर्तन का सिद्धांत = I P पावलव
४७• शास्त्रीय अनुबंधन का सिद्धांत = इवान पेट्रोविच पावलव
४८•प्रतिस्थापक का सिद्धांत = इवान पेट्रोविच पावलव
४९• प्रबलन (पुनर्बलन) का सिद्धांत = सी. एल. हल
५०• व्यवस्थित व्यवहार का सिद्धांत = सी. एल. हल
५१•सबलीकरण का सिद्धांत = सी. एल. हल
 ५२•संपोषक का सिद्धांत = सी. एल. हल
५३• चालक / अंतर्नोद(प्रणोद) का सिद्धांत = सी. एल. हल
५४• अधिगम का सूक्ष्म सिद्धान्त = कोहलर 
५५• सूझ या अन्तर्दृष्टि का सिद्धांत = कोहलर, वर्दीमर, कोफ्का
५६• गेस्टाल्टवाद सम्प्रदाय के जनक = कोहलर, वर्दीमर, कोफ्का
५७• क्षेत्रीय सिद्धांत =कुर्त लेविन
५८• तलरूप कासिद्धांत =कुर्त लेविन
५९• समूह गतिशीलतासम्प्रत्यय के प्रतिपादक = कुर्त लेविन
६०•सामीप्य संबंधवाद का सिद्धांत =गुथरी
६१• साईन(चिह्न) का सिद्धांत = टॉलमैन
६२• सम्भावना सिद्धांत के प्रतिपादक = टॉलमैन
६३• अग्रिम संगठकप्रतिमान के प्रतिपादक = डेविड आसुबेल
६४• भाषायीसापेक्षता प्राक्कल्पना के 

प्रतिपादक = व्हार्फ
६५• मनोविज्ञान के व्यवहारवादी सम्प्रदाय के जनक = जोहन बी. वाटसन

६६• अधिगम या व्यव्हार सिद्धांत के प्रतिपादक = क्लार्क हल
६७•सामाजिक अधिगम सिद्धांत के प्रतिपादक = अल्बर्ट बण्डूरा
६८• पुनरावृत्ति का सिद्धांत = G स्टेनले हॉल
६९• अधिगम सोपानकी के प्रतिपादक = गेने
७०•मनोसामाजिकविकासकासिद्धांत =एरिकएरिक्सन
७१• प्रोजेक्ट प्रणाली से करके सीखना का सिद्धांत = जान ड्यूवी
७२• अधिगम मनोविज्ञान का जनक =हर्मन इबिन हॉस(Hermann Ebbinghaus )
७३•आधुनिक मनोविज्ञान के प्रथम मनोवैज्ञानिक – डेकार्टे

७४•किन्डरगार्टन विधि के प्रतिपादक = फ्रोबेल
७५•डाल्टन विधि के प्रतिपादक = मिस हेलेन

पार्कहर्स्ट
७६•मांटेसरी विधि के प्रतिपादक = मैडम

मारिया मांटेसरी
७७•संज्ञानात्मक आन्दोलन के जनक =अल्बर्ट बांडूरा
७८•गेस्टाल्टवाद (1912) = कोहलर, कोफ्का,

वर्दीमर व लेविन
७९•संरचनावाद (1879)=विलियम वुंट
८०•व्यवहारवाद (1912) = जे. बी. वाटसन
८१•मनोविश्लेशणवाद (1900) –=सिगमंड फ्रायड
८२•विकासात्मक/संज्ञानात्मक = जीन पियाजे
८३•संरचनात्मक अधिगम की अवधारणा = जेरोम

ब्रूनर
८४•सामाजिक अधिगम सिद्धांत (1986) = अल्बर्ट

बांडूरा
८५•संबंधवाद (1913) – थार्नडाईक
८६•अनुकूलित अनुक्रिया सिद्धांत (1904) =

पावलव्
८७•क्रियाप्रसूत अनुबंधन सिद्धांत (1938) – स्किनर
८८•प्रबलन/पुनर्बलन सिद्धांत (1915) – हल
८९•अन्तर्दृष्टि/सूझ सिद्धांत (1912) – कोहलर
९०• विकास के सामाजिक प्रवर्तक = एरिक्सन
९१•प्रोजेक्ट प्रणाली से करके सीखना का

सिद्धांत = जान ड्यूवी

९३• अधिगम मनोविज्ञान का जनक = एविग हास
९४• अधिगम अवस्थाओं के प्रतिपादक = जेरोम

ब्रूनर
९५• संरचनात्मक अधिगम का सिद्धांत = जेरोम

ब्रूनर
९६• सामान्यीकरण का सिद्धांत = सी. एच. जड
९७• शक्ति मनोविज्ञान का जनक = वॉल्फ
९८•अधिगम अंतरण का मूल्यों के अभिज्ञान का

सिद्धांत = बगले
९९• भाषा विकास का सिद्धांत = चोमस्की
१००• माँग-पूर्ति(आवश्यकता पदानुक्रम) का

सिद्धांत = मैस्लो (मास्लो)
१०१• स्व-यथार्थीकरण अभिप्रेरणा का 

सिद्धांत= मैस्लो (मास्लो)

१०२• आत्मज्ञान का सिद्धांत = मैस्लो (मास्लो)
१०३• उपलब्धि अभिप्रेरणा का सिद्धांत = डेविड

सी.मेक्लिएंड
१०४•प्रोत्साहन का सिद्धांत = बोल्स व काफमैन
१०५• शील गुण(विशेषक) सिद्धांत के प्रतिपादक =

आलपोर्ट
१०५• व्यक्तित्व मापन का माँग का सिद्धांत =

हेनरी मुरे
१०६•कथानक बोध परीक्षण विधि के 

प्रतिपादक= मोर्गन व मुरे
१०७• प्रासंगिक अन्तर्बोध परीक्षण (T.A.T.)

विधि के प्रतिपादक = मोर्गन व मुरे

१०८• बाल -अन्तर्बोध परीक्षण (C.A.T.) विधि के

प्रतिपादक = लियोपोल्ड बैलक
१०९• रोर्शा स्याही ध्ब्बा परीक्षण (I.B.T.)

विधि के प्रतिपादक = हरमन रोर्शा
११०•वाक्य पूर्ति परीक्षण (S.C.T.) विधि के

प्रतिपादक = पाईन व टेंडलर
१११• व्यवहार परीक्षण विधि के प्रतिपादक = मे

एवं हार्टशार्न
११२•किंडरगार्टन(बालोद्यान ) विधि के

प्रतिपादक = फ्रोबेल
११३•खेल प्रणाली के जन्मदाता = फ्रोबेल
११४•मनोविश्लेषण विधि के जन्मदाता = सिगमंड

फ्रायड
११५• स्वप्न विश्लेषण विधि के प्रतिपादक =

सिगमंड फ्रायड
११६• प्रोजेक्ट विधि के प्रतिपादक = विलियम

हेनरी क्लिपेट्रिक

११७•मापनी भेदक विधि के प्रतिपादक = एडवर्ड्स

व क्लिपेट्रिक
११८• डाल्टन विधि की प्रतिपादक = मिस हेलेन

पार्कहर्स्ट
११९• मांटेसरी विधि की प्रतिपादक = मेडम

मारिया मांटेसरी
१२०•डेक्रोली विधि के प्रतिपादक = ओविड

डेक्रोली
१२१•विनेटिका(इकाई) विधि के प्रतिपादक =

कार्लटन वाशबर्

१२२• ह्यूरिस्टिक विधि के प्रतिपादक = एच. ई.

आर्मस्ट्रांग
१२३• समाजमिति विधि के प्रतिपादक = जे. एल.

मोरेनो
१२४• योग निर्धारण विधि के प्रतिपादक =

लिकर्ट
१३५• स्केलोग्राम विधि के प्रतिपादक = गटमैन
१३५• विभेद शाब्दिक विधि के प्रतिपादक =

आसगुड
१३६• स्वतंत्र शब्द साहचर्य परीक्षण विधि के

प्रतिपादक = फ़्रांसिस गाल्टन
१३७•स्टेनफोर्ड- बिने स्केल परीक्षण के प्रतिपादक

= टरमन
१३८• पोरटियस भूल-भुलैया परीक्षण के प्रतिपादक

= एस.डी. पोरटियस
१३९• वेश्लर-वेल्यूब बुद्धि परीक्षण के प्रतिपादक =

डी.वेश्लवर
१४०• आर्मी अल्फा परीक्षण के प्रतिपादक = आर्थर

एस. ओटिस
१४१• आर्मी बिटा परीक्षण के प्रतिपादक = आर्थर

एस. ओटिस
१४२•हिन्दुस्तानी बिने क्रिया परीक्षण के

प्रतिपादक = सी.एच.राइस

१४३•प्राथमिक वर्गीकरण परीक्षण के प्रतिपादक

= जे. मनरो
१४४•बाल अपराध विज्ञान का जनक = सीजर

लोम्ब्रसो
१४५• वंश सुत्र के नियम के प्रतिपादक = मैंडल
१४६• ब्रेल लिपि के प्रतिपादक = लुई ब्रेल
१४७•साहचर्य सिद्धांत के प्रतिपादक = एलेक्जेंडर

बैन

 

१४८•सीखने के लिए सीखना” सिद्धांत के

प्रतिपादक = हर्लो
१४९•शरीर रचना का सिद्धांत = शैल्डन
१५०• व्यक्तित्व मापन के जीव सिद्धांत के

प्रतिपादक = गोल्डस्टीन
१५१•अधिगम का सूक्ष्म सिद्धान्त = कोहलर
१५२• क्षेत्रीय सिद्धांत = लेविन
१५३•तलरूप का सिद्धांत = लेविन
१५४•समूह गतिशीलता सम्प्रत्यय के प्रतिपादक = लेविन
१५५•सामीप्य संबंधवाद का सिद्धांत = गुथरी
१५६•साईन(चिह्न) का सिद्धांत = टॉलमैन
१५६• सम्भावना सिद्धांत के प्रतिपादक = टॉलमैन
१५७•अग्रिम संगठक प्रतिमान के प्रतिपादक = डेविड आसुबेल
१५८• भाषायी सापेक्षता प्राक्कल्पना के प्रतिपादक = व्हार्फ
१५९•मनोविज्ञान के व्यवहारवादी सम्प्रदाय के जनक = जोहन बी. वाटसन
१६०• अधिगम या व्यव्हार सिद्धांत के प्रतिपादक = क्लार्क
१६१• सामाजिक अधिगम सिद्धांत के प्रतिपादक = अल्बर्ट बाण्डूरा
१६२• पुनरावृत्ति का सिद्धांत = स्टेनले हॉल
१६३•अधिगम सोपानकी के प्रतिपादक = गेने
१६४• विकास के सामाजिक प्रवर्तक = एरिक्सन
१६५• प्रोजेक्ट प्रणाली से करके सीखना का सिद्धांत = जान ड्यूवी
१६६• अधिगम मनोविज्ञान का जनक = एविग हास
१६७•अधिगम अवस्थाओं के प्रतिपादक= जेरोम ब्रूनर
१६८• संरचनात्मक अधिगम का सिद्धांत = जेरोम ब्रूनर
१६९• सामान्यीकरण का सिद्धांत = सी. एच. जड
१७०• शक्ति मनोविज्ञान का जनक = वॉल्फ

१७१• अधिगम अंतरण का मूल्यों के अभिज्ञान का सिद्धांत = बागले
१७२• भाषा विकास का सिद्धांत = चोमस्की
१७३• माँग-पूर्ति(आवश्यकता पदानुक्रम) का सिद्धांत = मैस्लो (मास्लो)
१७४• स्व-यथार्थीकरण अभिप्रेरणा का सिद्धांत = मैस्लो (मास्लो)
१७५• आत्मज्ञान का सिद्धांत = मैस्लो (मास्लो)
१७६•उपलब्धि अभिप्रेरणा का सिद्धांत = डेविड सी.मेक्लिएंड
१७७• प्रोत्साहन का सिद्धांत = बोल्स व काफमैन
१७८•शील गुण(विशेषक) सिद्धांत के प्रतिपादक = आलपोर्ट
१७९• व्यक्तित्व मापन का माँग का सिद्धांत = हेनरी मुरे
१८०• कथानक बोध परीक्षण विधि के प्रतिपादक = मोर्गन व मुरे

शिक्षा मनोविज्ञान नोट्स संग्रह
१८१• प्रासंगिक अन्तर्बोध परीक्षण (T.A.T.) विधि के प्रतिपादक = मोर्गन व मुरे
१८२•बाल -अन्तर्बोध परीक्षण (C.A.T.) विधि के प्रतिपादक = लियोपोल्ड बैलक
१८३•रोर्शा स्याही ध्ब्बा परीक्षण (I.B.T.) विधि के प्रतिपादक = हरमन रोर्शा
१८४• वाक्य पूर्ति परीक्षण (S.C.T.)विधि के प्रतिपादक = पाईन व टेंडलर
१८५• व्यवहार परीक्षण विधि के प्रतिपादक = मे एवं हार्टशार्न
१८६•किंडरगार्टन(बालोद्यान ) विधि के प्रतिपादक = फ्रोबेल
१८७• खेल प्रणाली के जन्मदाता = फ्रोबेल
१८८मनोविश्लेषण विधि के जन्मदाता = सिगमंड फ्रायड
१८९• स्वप्न विश्लेषण विधि के प्रतिपादक = सिगमंड फ्रायड
१९०•प्रोजेक्ट विधि के प्रतिपादक = विलियम हेनरी क्लिपेट्रिक

शिक्षा मनोविज्ञान नोट्स संग्रह
१९१• मापनी भेदक विधि के प्रतिपादक = एडवर्ड्स व क्लिपेट्रिक
१९२• डाल्टन विधि की प्रतिपादक = मिस हेलेन पार्कहर्स्ट
१९३• मांटेसरी विधि की प्रतिपादक = मेडम मारिया मांटेसरी
१९४• डेक्रोली विधि के प्रतिपादक= ओविड डेक्रोली
१९५• विनेटिका(इकाई) विधि के प्रतिपादक = कार्लटन वाशबर्न
१९६• ह्यूरिस्टिक विधि के प्रतिपादक = एच. ई. आर्मस्ट्रांग
१९७• समाजमिति विधि के प्रतिपादक = जे. एल. मोरेनो
१९८• स्वतंत्र शब्द साहचर्य परीक्षण विधि के प्रतिपादक = फ़्रांसिस गाल्टन
१९९• स्टेनफोर्ड- बिने स्केल परीक्षण के प्रतिपादक = टरमन
२००• पोरटियस भूल-भुलैया परीक्षण के प्रतिपादक = एस.डी. पोरटियस

 
शिक्षा मनो- विज्ञान की निगमन विधि में प्रयुक्त शिक्षण सूत्र~~~trick~~

अ-प्रमा-नि  ki  सा-सू
अ~~~अज्ञात   से ज्ञात की ओंर

प्रमा~~~प्रमाण  से  प्रत्यक्ष की ओंर

नि ~~~नियम से उदाहरण की ओंर

ki~~~$ilent word

सा~~~सामान्य से विशिष्ट की ओंर

सू~~~सूक्ष्म से स्थूल की ओंर

नोट~ इसके ठीक विपरीत आगमन विधि के नियम लागू होते  है।
थार्नडाइक द्वारा प्रतिपादित शिक्षा मनो -विज्ञान के सिद्धान्त=======

=============Trick===============

शिक्षा मनोविज्ञान के जनक थार्नडाइक  (ने) >

प्रयास एवं त्रुटि >प्रयत्न एवं भूल के सिद्धांत  >

(के आधार पर)>S०R थ्योरी>प्रशिक्षण>अधिगम का >उद्दीपन-अनुक्रिया >सम्बंधित>संयोजनवादी>

   बहु खंड बुद्धि का सिद्धांत (दिया)

=============Trick===============

१•शिक्षा मनोविज्ञान के जनक

२•प्रयास एवं त्रुटि का सिद्धांत

३•प्रयत्न एवं भूल का सिद्धांत

४• S-R थ्योरी के जन्मदाता

५•प्रशिक्षण अंतरण का सर्वसम अवयव का सिद्धांत

६• अधिगम का बन्ध सिद्धांत

७•उद्दीपन-अनुक्रिया का सिद्धांत

८• संबंधवाद का सिद्धांत

९•संयोजनवाद का सिद्धांत

१०•बहु खंड बुद्धि का सिद्धांत

इवान पेट्रोविच पावलव द्वारा प्रतिपादित शिक्षा-मनोविज्ञान के सिद्धान्त======

=============trick==============

अनुकूलित अनुक्रिया KE शास्त्रीय अनुबंधन 

संबंध KA प्रतिस्थापक (इवान पेट्रोविच पावलव है!)

=============trick==============

  अनुकूलित अनुक्रिया====

              अनुकूलित अनुक्रिया का सिद्धांत
   शास्त्रीय अनुबंधन=====

                 शास्त्रीय अनुबंधन का सिद्धांत
   संबंध=======

              संबंध प्रत्यावर्तन का सिद्धांत
  प्रतिस्थापक=====

                    प्रतिस्थापक का सिद्धांत

        
सी. एल. हल द्वारा दिए गए शिक्षा-मनोविज्ञान के

सिद्धांत=====

===========TRICK==========

व्यवस्थित > प्रबलन  KA >सबल> संपोषक > चालक (का सिद्धांत सी. एल. हल द्वारा  दिया गया!)

============TRICK==========    

१•व्यवस्थित====

            व्यवस्थित व्यवहार का सिद्धांत
२• प्रबलन======

                 प्रबलन(पुनर्बलन) का सिद्धांत   
 ३•सबल======

                     सबलीकरण का सिद्धांत
   ४•संपोषक==

                   संपोषक का सिद्धांत
५•चालक==

        चालक / अंतर्नोद(प्रणोद) का सिद्धांत

       
मैस्लो(मास्लो ) जिन सिद्धन्तों  से सम्बंधित है~
trick~~

आत्म ज्ञान  ki  माँग-पूर्ति ~~स्वं-यथार्थ
=> आत्मज्ञान का सिद्धांत 
=> माँग-पूर्ति(आवश्यकता पदानुक्रम) का सिद्धांत 
=> स्व-यथार्थीकरण अभिप्रेरणा का सिद्धांत 

___________________________________________
लेविन जिन सिद्दान्त से सम्बन्धित है 
trick~~

क्षेत्रीय ~समूह गति ka तरल सिद्दान्त¶¶by लेविन

Trick by Dinesh Jarwal
=> क्षेत्रीय सिद्धांत = लेविन

=> समूह गतिशीलता सम्प्रत्यय के प्रतिपादक = लेविन

=> तलरूप का सिद्धांत = लेविन

CDP –

पियाजे के अनुसार बौद्धिक/संज्ञात्मक विकास की अवस्थाएं –

1.समवेदी प्रेरक- 0 से 2 वर्ष

2.पूर्व सन्क्रियात्मक- 2 से 7 वर्ष

3.मूर्त सन्क्रियात्मक- 7 से 11 वर्ष

4.औपचारिक सन्क्रियात्मक- 11 से 15 वर्ष

TRICK- सबने पूरी की मूर्ति आपकी
मनोविज्ञान की परिभाषायें :-
०👑1. वाटसन के अनुसार, “ मनोविज्ञान, व्यवहार का निश्चित या शुद्ध विज्ञान है।”
०👑2. वुडवर्थ के अनुसार, “ मनोविज्ञान, वातावरण के सम्पर्क में होने वाले मानव व्यवहारों का विज्ञान है।”
०👑3. मैक्डूगल के अनुसार, “ मनोविज्ञान, आचरण एवं व्यवहार का यथार्थ विज्ञान है।”
०👑4. क्रो एण्ड क्रो के अनुसार, “ मनोविज्ञान मानव – व्यवहार और मानव सम्बन्धों का अध्ययन है।”
०👑5. बोरिंग के अनुसार, “ मनोविज्ञान मानव प्रकृति का अध्ययन है।”
०👑6. स्किनर के अनुसार, “ मनोविज्ञान, व्यवहार और अनुभव का विज्ञान है।”
०👑7. मन के अनुसार, “आधुनिक मनोविज्ञान का सम्बन्ध व्यवहार की वैज्ञानिक खोज से है।”
०👑8. गैरिसन व अन्य के अनुसार, “ मनोविज्ञान का सम्बन्ध प्रत्यक्ष मानव – व्यवहार से है।”
०👑9. गार्डनर मर्फी के अनुसार, “ मनोविज्ञान वह विज्ञान है, जो जीवित व्यक्तियों का उनके वातावरण के प्रति अनुक्रियाओं का अध्ययन करता है। ”
०👑10• स्टीफन के अनुसार, “शिक्षा मनोविज्ञान शैक्षणिक विकास का क्रमिक अध्ययन है।”
०👑11•शिक्षा के द्वारा मानव व्यवहार में परिवर्तन किया जाता है तथा मानव व्यवहार का अध्ययन ही मनोविज्ञान कहलाता है ।” यह कथन है- ब्राउन का
०👑12. क्रो एण्ड क्रो के अनुसार, “शिक्षा मनोविज्ञान, व्यक्ति के जन्म से लेकर वृद्धावस्था तक के अनुभवों का वर्णन तथा व्याख्या करता है।”
०👑13. स्किनर के अनुसार, “शिक्षा मनोविज्ञान के अन्तर्गत शिक्षा से सम्बन्धित सम्पूर्ण व्यवहार और व्यक्तित्व आ जाता है।”
०👑14. कॉलसनिक के अनुसार, “मनोविज्ञान के सिद्धान्तों व परिणामों का शिक्षा के क्षेत्र में अनुप्रयोग ही शिक्षा मनोविज्ञान कहलाता है।”
०👑15. सारे व टेलफोर्ड के अनुसार, “शिक्षा मनोविज्ञान का मुख्य सम्बन्ध सीखने से है। यह मनोविज्ञान का वह अंग है, जो शिक्षा के मनोवैज्ञानिक पहलुओं की वैज्ञानिक खोज से विशेष रूप से सम्बन्धित है।”
०👑16 “बालक के विकास का अध्ययन हमें यह जानने योग्य बनाता है कि क्या पढ़ायें और कैसे पढाये ।” यह कथन है- किल्फोर्ड का
०👑17- “मानव व्यवहार एवं अनुभव से सम्बंधित निष्कर्षो का शिक्षा के क्षेत्र में प्रयोग शिक्षा मनोविज्ञान कहलाता है ।“ यह कथन है- स्किनर का
०👑18 “शिक्षा मनोविज्ञान शैक्षिक विकास का क्रमिक अध्ययन है ।” यह कथन है- जे.एम. स्टीफन का
०👑19 •शिक्षा मनोविज्ञान शैक्षिक परिस्थितियों के मनोविज्ञान पक्षों का अध्ययन है ।“ यह कथन है- ट्रो का
 ०👑20•“शिक्षा की प्रकिया पूर्णतया मनोविज्ञान की कृपा पर निर्भर है ।” यह कथन है- बी एन झा का
०👑21•– “शिक्षा मनोविज्ञान शैक्षिक परिवेश में व्यक्ति के विकास का व्यवस्थित अध्ययन है ।” यह कथन है- एस एस चौहान का
०👑22•- शिक्षा मनोविज्ञान की औपचारिक आधारशिला कब रखी गयी- 1889 में
०👑23•– किसके प्रयासों से शिक्षा मनोविज्ञान की औपचारिक आधारशिला सन् 1889 में रखी गयी- स्टेनले हॉल के प्रयासों से 
०👑24•- “शिक्षा मनुष्य की क्षमताओं का स्वाभाविक, प्रगतिशील तथा विरोधहीन विकास है” यह परिभाषा है- पेस्टोलोजी की
०👑25•– “शिक्षा मनुष्य की क्षमताओं का विकास है , जिनकी सहायता से वह अपने वातावरण पर नियंत्रण करता हुआ अपनी संभावित उन्नति को प्राप्त करता है ।” यह परिभाषा दी- जॉन डीवी ने
०👑26• “शिक्षा मनोविज्ञान का उद्देश्य शैक्षिक परिस्थति के मूल्य एवं कुशलता में योगदान देना है ।” कथन है- स्किनर का
०👑27•– “शिक्षा मनोविज्ञान वह विज्ञान है ,जिसमे छात्र , शिक्षण तथा अध्यापन का क्रमबद्ध अध्ययन किया जाता है ।” यह परिभाषा है- जॉन एफ.ट्रेवर्स की
 

Updated: April 29, 2017 — 5:45 am
Exam Preparation Group © 2016 Frontier Theme