Exam Preparation Group

GK, HISTORY, SCIENCE MATHS, ENGLISH, HINDI & MANY MORE

क्या आप जानते है-रोचक तथ्य

♦ मानव शरीर की संरचना का पता लगाने वाला पहला वैज्ञानिक एंडि्रयास विसैलियम था।
♦ वृक्क प्रत्यारोपण में भार्इ या अत्यधिक निकट सम्बन्धी का वृक्क ही लिया जाता है, क्योकि दोनों के वृक्को का
अनुवांशिक संगठन एक जैसा होता है।
♦ मानव एक मिनट में 16 से 18 बार सांस लेता हैैं
♦ स्तनी प्राणियों में डायाफ्राम का सबसे महत्वपूर्ण कार्य श्वास विधि में सहायता करना हैं
♦ जब कोर्इ व्यकित सांस लेता है तो आक्सीजन रूधिर में हीमोग्लोबिन से संयोग करती है।
♦ श्वसन गुणांक आर0क्यू0 का तात्पर्य उत्पादित कार्बन डाइ-आक्साइड तथा प्रयोग में आर्इ आक्सीजन का अनुपात है।
♦ डी0एन0ए0 कुण्डल रचना वाटसन एवे कि्र्क ने बतायी थी।
♦ आर0एन0ए0 में डी0एन0ए0 यूरेसिल तत्व के कारण भिन्नता होती है
♦ जैव प्रौधोगिकी विभाग विज्ञान एवं प्रौधोगिकी मन्त्रालय के अधीन है।
♦ कृत्रिम निषेचन के लिए सांड के वीर्य को द्रव नाइट्रोजन में संचित करते है।
♦ भ्रूण की जानकारी के लिए सोनोग्राफी विधि सर्वश्रेष्ठ है।
♦ एन0एम0आर0 चुम्बकीय अनुनाद पर आधारित हैं।
♦ सोयाबीन में प्रोटीन की मात्रा सर्वाधिक होती है।
♦ फलों में शर्करा लवण प्रचुर मात्रा में होते है। लेकिन प्रोटीन अल्प मात्रा में होता है।
♦ दालों में प्रोटीन और विटामिन प्रचुर मात्रा में होते है। लेकिन कार्बोहाइड्रेट अल्प मात्रा में होते हैै।
♦ मानव शरीर में रूधिर के स्कन्दन में कैल्सियम की भूमिका महत्वपूर्ण होती है।
♦ हमारे शरीर में त्वचा तल के नीचे विधमान शरीर की ऊश्मा का क्षय के विरूद अवरोधक का काम करती है
♦ कैल्सियम विटामिन बी12 रूधिर का थक्का जमाने के लिए आवश्यक है।
♦ यकृत पित्त का स्त्रवण करता है जो वसा के पाचन में मदद करता है। यह ग्लाइकोजीन के लिए संचायक अंग का कार्य भी करता है।
♦ शरीर के रोग प्रतिरोधन में लिम्फायड ऊतक का बडा महत्व है, टोनिसल्स एवं वर्मीफार्म एपेनिडक्स लिम्फायड ऊतक है।
♦ माँसपेसियों के संकुचन के लिए ऊर्जा प्रोटीन के दहन से प्राप्त होती है।
♦ विटामिन डी का निर्माण हमारे षरीर में बहुत तेजी से होता है।
♦ एस्कार्बिक अम्ल(विटामिन सी), फोलिक अम्ल(विटामिन बी6), निकोटिन अम्ल(विटामिन बी5), पैन्टोथेनिक अम्ल(विटामिन बी3) सभी विटामिनस है।
♦ दूध में प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट के अतिरिक्त कैल्सियम और पोटैसियम सम्मलित होते है।
♦ मानव शरीर में पाचन का अधिकांश भाग छोटी आंत में सम्पन्न होता है।
♦ शरीर में ऊतकों का निर्माण प्रोटीन से होता है।
♦ मानव शरीर का फेंफडा भाग शरीर के ताप को नियनित्रत रखता है।
♦ पालक के पत्तों में सर्वाधिक आयरन होता है।
♦ नाखून काटते समय दर्द नही होता क्योकि नाखून में मृतकोशिकाओं के द्रव्य द्वारा बने होते है। जिनमें रक्त संचरण नही होता है।
♦ शरीर में कार्बोहाइड्रेटस का संग्रह ग्लाइकोजन के रूप में होता है।
♦ पनीर मानव शरीर में नये ऊतकेा की वृध्दि के लिये पोशक तत्व प्रदान करता है।
♦ कार्बन सभी जैविक यौगिक का अनिवार्य मूल तत्व है।
♦ मानव शरीर में पाचन की कि्रया में प्रतिलवण का कार्य वसा का इमल्सन बनाना तथा उसके अवशोषण को सुगम बनाना है।
♦ ग्लाइसिन एक अमीनों अम्ल है हमारे शरीर का अधिकतम भार जल का है।
♦ दूध के खराब होने का कारण लैक्टोबेसीलस होता है।
♦ शरीर के एन्जाइम बहुत आवश्यक होते है क्योकि एन्जाइम जीव रसायनिक क्रिया के उत्प्रेरक है
♦ विटामिन डी को हार्मोन भी माना जाता है।
♦ दूध को पचाने के लिए आवश्यक एन्जाइम रेनिन और लैक्टेस मानव शरीर में आठ वर्ष की आयु में लुप्त हो जाते है।
♦ प्राणियों में यकृत रक्त शर्करा को तत्काल अवशोषित कर लेता है
♦ ऊट अपने कूबड का उपयोग वसा के संग्रह के लिए करता है।
♦ थाइमिन विटमिन बी1 को कहा जाता है।
♦ विटामिन बी12 का सबसे अच्छा स्त्रोत बकरी का यकृत एवं स्पाइरूलिना है।
♦ आयोडिन एक ऐसा तत्व है जो जन्तुओं के लिए जरूरी होता है।परन्तु पादपों के लिए नही ।
♦ विटामिन सी एक अस्थायी विटामिन है जो पकाते समय तथा भण्डारण के समय आसानी से नष्ट हो जाता है।
♦ मानव शरीर में विटामिन ए यकृत में संचित रहता है
♦ एन्जाइम मूलत: प्रोटीन है
♦ हदय की धडकन नियन्त्रित करने के लिए आवश्यक खनिज पोटैशियम है।
♦ ऊँट का औसत जीवन काल 30 वर्श , बिल्ली का औसत जीवन वर्ष 21 वर्ष , गाय का 16 वर्ष , घोडे का 62 वर्ष होता है
♦ स्टार्ट और सूल्यूलोज दोनों का उदभव वानस्पतिकीय से होता है एवं दोनों बहुलक है एवं दोनों ग्लूकोज अणु से निर्मित है।
♦ शहद का प्रमुख घटक फ्रक्टोस है।
♦ ऐल्फा – किरेटिन एक प्रोटीन है जो त्वचा में उपसिथत रहता है
♦ भैस के दूध में औसत वसा की मात्रा 7.2 प्रतिषत होती है
♦ कार्बन, हाइड्रोजन, आक्सीजन एवं नाइट्रोजन तत्व सभी प्रोटीन में पाये जाते है।
♦ केरोटीन एक विटामिन पेपिसन एक एन्जाइम है, प्रोजेस्ट्रान एक हार्मोन है, केरेटिन एक प्रोटीन है
♦ बोतल का दूध पीने वाले बच्चों की तुलना में माँ का दूध पीने वाले बच्चे कम मोटे होते है उनमें रोगों का प्रतिरोध करने की क्षमता अधिक होती है उन्हे विटामिन और प्रोटीन अधिक मिलती है।

Exam Preparation Group © 2016 Frontier Theme